शुक्रवार, 12 नवंबर 2021

टेम आ गया है।

खुद को जानने का,
दुविधा को हटाकर
भ्रांतिया सब घटाकर
सत्य को मन्ने का 

" टेम  आ गया है। "


                                                                            जिन पर हम हसते रहे
                                                                           हरबार उन्ही बातों से
                                                                           तिरस्कृत जज़्बातों से 
                                                                           घरशत्रु  हमे डसते रहे

                                                                           पर अब,  टेम  आ गया है। 

विदेशों में सम्मान मिले 
वो सनातन चाहे 
हम मने गहे बगाहे
 उसपर भी फरमान मिले। 

अब नहीं,  टेम  आ गया है। 


                                                                           भगवाकरण ? है, तो है। 
                                                                           वेदो से सीख, आचरण 
                                                                           धर्म हेतु म्रतियु वरण 
                                                                           कम्युनल ? है, तो है। 

                                                                            टेम  आ गया है। 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें